इस एप्प को डाउनलोड करो और पाओ 900 करोड़ का कैशबैक

नई दिल्ली: सरकार गूगल तेज और फोन पे जैसे एप से सीख लेते हुए भीम एप को पॉपुलर करने के लिए कैशबैक का तरीका अपनाने जा रही है। सरकार बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की जयंती के दिन 14 अप्रैल से कैशबैक देने की शुरूआत करेगी। जो लोग भीम एप का उपयोग करने वाले यूजर्स और कारोबारियों को ये कैशबैक दिया जाएगा। भीम एप यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस पर चलता है। सरकार ने इसके लिए 900 करोड़ रुपए का कैशबैक देने की योजना बनाई है।

एक अधिकारी के मुताबिक कैशबैक और इंसेंटिव देकर भीम प्लेटफॉर्म पर ट्रांजैक्शन बढ़ाए जा सकते हैं। ईटी की खबर के मुताबिक भीम एप पर मर्चेंट्स का इंसेंटिव 10 हजार रुपए के ट्रांजैक्शन पर 0.25 फीसदी से बढ़ाकर 0.5 फीसदी किया जाएगा। पहले ये इंसेंटिव 2 हजार रुपए तक के ट्रांजैक्शन पर मिलता था। सरकार ने माना है कि पहले भी इस तरह की स्कीम को ज्यादा प्रतिसाद नहीं मिला है। इस मॉडल को अपना कर भीम एप पर पहली बार 100 रुपए का ट्रांजैक्शन करने पर 51 रुपए का कैशबैक दिया जाएगा।

अगले 20 यूनिक ट्रांजैक्शन के लिए हर ट्रांजैक्शन पर 25 रुपए मिलेंगे। इसके बाद के 25 से 50 ट्रांजैक्शन पर 100 रुपए मिलेंगे। 50 से 100 रुपए ट्रांजैक्शन करने पर 200 रुपए मिलेंगे। भीम एप को एंड्रॉइड फोन में गूगल प्लेस्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। अधिकारी ने कहा कि मर्चेंट्स के लिए इंसेंटिव बढ़ा दिया गया हा ताकि  वो हर ट्रांजैक्शन पर 2 से 50 रुपए कमा सकें। इस तरह उनको हर महीने कम से कम 2000 रुपए मिले।

भीम एप को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2016 में लॉन्च किया था। इसके बाद इस मॉडल को फोन पे, गूगल तेज और पेटीएम ने कैशबैक देते हुए अच्छे से चलाया था। एक सरकारी अधिकारी ने ईटी को बताया कि हमने फोन पे, गूगल तेज और पेटीएम के मॉडल पर ध्यान दिया है। जब भी ये इंसेंटिव और कैशबैक देते है तब ट्रांजैक्शन वॉल्यूम बढ़ जाता है। कुल ट्रांजैक्शन में यूपीआई ट्रांजैक्शन का हिस्सा फरवरी में गिरकर 5.75 फीसदी हो गया है। फरवरी में ये हिस्सा 40.5 फीसदी था।

One thought on “इस एप्प को डाउनलोड करो और पाओ 900 करोड़ का कैशबैक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *